अध्यात्म

भगवान गणेश का इस बच्चे के रूप में हुआ है पुनर्जन्म, ऐसा हम नहीं, यहां के लोग कहते हैं

असा देखा गया है की जिस चीज के बारे में इंसानो को इतना पता नहीं होता है यह फिर कुछ ऐसा जो की इस दुनिया से काफी अलग होता है हम उसे यह तो डरते है यह फिर उसे पूजते है वैसे ऐसा नहीं है हमारे में सोचने और समझने की ताकत नहीं है बस हम सच का सामना नहीं करना चाहते है और भारत में ये चीजे कोई बड़ी बात नहीं है हमरे देश में लोगो चमत्कार को नमस्कार करते है और लॉजिक की बता करे तो उस बारे में तो कोई सोचता ही नहीं है क्योकि लॉजिक से ज्यादा लोगो को मैजिक पसंद है।

हाल ही में एक ऐसी ही किस्सा सामने आया है एक बच्चे को लोग भगवान गणेश मानकर पूजन कर रहे हैं वैसे हैरान करने वाली बता तो ये है की उनकी शिक्षक भी उसे भगवान गणेश का अवतार मानते हैं ये ही नहीं गांव और आसपास के इलाकों के तमाम लोग अक्सर प्रांशु के पैर छूकर उससे आशीर्वाद लेते हैं।

आप को बता दे की जिस बच्चे की आज हम बता कर रहे है वो पंजाब के जालंधर में मजदूरी करने वाले कमलेश का छह साल का बेटा प्रांशु है आप को बता दे की इस बच्चे का चेहरा हम सभी से काफी अलग है इसका सिर बड़ा है और आंखे भी बड़ी-बड़ी है आप को बता दे की उसे एक बीमारी है जिस वजह से उसकी आंखे छोटी हो होगी और उस का सिर बड़ा होगा और इस की वजह गर्भ में उसका उचित विकास न हो पाना था।

जैसा ही उस का जन्म हुआ लोगो पहले तो हैरान होए पर बाद में उन्होंने उस की तुलना भगवान गणेश से की जिस के बाद सिर्फ कुछ ही दिनों में यह बात तेजी से फैल गई और लोग प्रांशु की पूजा करने लगे और हाल अब ये है की प्रांशु की पूजा की जाती है और साथ ही उस के पैर भी छूते है जब प्राशु से इस बारे में बता की तो उस ने बताया की वो गणेश जी की तरह दिखता है और लोग उसे गणेश जी की तरह ही पूजते है और उसकी शिक्षक भी उसकी पूजा करती है वैसे उस के दोस्त उसे उनसे के चेहरे की वजह से उस चिढ़ाते नहीं है क्योंकि वे मानते हैं कि वो वाकई गणेश भगवान है

जब इस बारे में प्राशु के पिता से पूछा गया तो उन्होंने बताया की वो भी अपने बेटे की पूजा बाकि लोगो की तरह करते है बता दे की न सिर्फ अपने गवा में बल्कि असा पास के कई इलाको में उसे ऐसे ही पूजा जाता है जब वो अपनी स्कूल में जाता है तो उस का स्वागत फूलो से होता है कमलेश का कहना है कि वो उसे रोज स्थानीय धार्मिक जगहों के पास ले जाते है जहां पर इस बच्चे से मिलने वाले लोग इससे आर्शीवाद लेते है।वैसे ऐसा पहली नहीं है हमारे देश में आप को ऐसे कई केस देखने को मिल जाएंगे वैसे बता दे की हम ये बिलकुल नहीं कहा रहे है की आप को इन चीजों पर विश्वास रखें चाहिए आप को बस अंधविश्वास से दूर ही रहना चाहिए धर्म के बहुत ही बड़ी चीज है और हम सभी उस की इज्जत करते है

source 

Most Popular

To Top